Sushil Kumar's Blog

straight from my heart and soul

अमीरों की रखैल हिन्दी

हिन्दी को संस्कृत और उर्दू की तरह से कब्र में गाड़ने के बहुतेरे प्रयास किये गए, इसे एक फिसड्डी भाषा बना दिया गया, सुनियोजित साजिश के तहत, ताकी नौकरियाँ और उच्च शिक्षा में मुट्ठी भर अंग्रेजी बोलने, पढ़ने और समझने वालों तक का ही एकाधिकार सीमित रह जाये। जिस देश के ईसाई मिशनरी स्कूलों में हिन्दी बोलने पर आर्थिक एवं शारीरिक दंड मिलता हो वो छात्र क्या कभी हिन्दी से प्रेम कर पाएंगे?
जिस देश में अबोध बच्चे को उसकी माँ बोले – पोट्टी करेगा या बाथरूम लगी है? जिस देश में कुत्ता-पालक गर्व से कहे कि अजी मेरा कुत्ता तो सिर्फ अंग्रेजी समझता है उस देश में हिन्दी का कल्याण हो चुका।
क्या फ़्रांस, जर्मनी, जापान, चीन, कोरिया भी अंग्रेजी से उतना प्रेम करते हैं? या सिर्फ हमें ही ग़ुलामी के बेड़ियाँ पसंद हैं? हमारे लिए ये जानना जरुरी है कि हमारा संविधान हिन्दी के बारे में क्या कहता है, और हमारे नेताओं और अफसरों ने संविधान-निर्माताओं के आँखों में कैसे धूल झोंक रखी है ये जानना भी बहुत जरुरी है।
343. संघ की राजभाषा–(1)  संघ की राजभाषा हिन्दी और लिपि देवनागरी  होगी। संघ के शासकीय  प्रयोजनों के लिए प्रयोग होने वाले अंकों का रूप भारतीय अंकों का अंतरराष्ट्रीय  रूप होगा। (2) खंड (1) में किसी बात के होते हुए भी, इस संविधान के प्रारंभ से पन्द्रह वर्ष की अवधि तक संघ के उन सभी शासकीय प्रयोजनों के लिए  अंग्रेजी भाषा का प्रयोग किया जाता रहेगा जिनके  लिए उसका ऐसे प्रारंभ से ठीक पहले प्रयोग किया जा रहा था: परन्तु राष्ट्रपति  उक्त अवधि के दौरान, आदेश1 द्वारा, संघ के  शासकीय प्रयोजनों में से किसी के लिए अंग्रेजी भाषा के  अतिरिक्त हिन्दी भाषा का और भारतीय अंकों के अंतरराष्ट्रीय रूप के अतिरिक्त  देवनागरी रूप का प्रयोग प्राधिकृत कर सकेगा। (3) इस अनुच्छेद में किसी बात के होते हुए भी, संसद उक्त पन्द्रह  वर्ष  की अवधि के पश्चात्‌, विधि द्वारा– (क) अंग्रेजी भाषा का,  या (ख) अंकों के देवनागरी रूप का, ऐसे प्रयोजनों के लिए  प्रयोग उपबंधित कर सकेगी जो ऐसी विधि में विनिर्दिष्ट किए जाएँ।

343. Official  language of the Union. (1) The official language of the Union shall be  Hindi in Devanagari script. The form of numerals to be used for the  official purposes of the Union shall be the international form of Indian numerals.

(2) Notwithstanding anything in clause (1), for a  period of fifteen years from the commencement of this Constitution, the  English language shall continue to be used for all the official purposes of the Union for which it was being used immediately before such  commencement: Provided that the President may, during the said period,  by order authorise the use of the Hindi language in addition to the  English language and of the Devanagari form of numerals in addition to  the international form of Indian numerals for any of the official  purposes of the Union.

(3) Notwithstanding anything in this  article, Parliament may by law provide for the use, after the said  period of fifteen years, of-

(a) the English language, or

(b) the Devanagari form of numerals, for such purposes as may be specified in the law.
© सुशील कुमार

Image

छवि साभार: बीबीसी

Single Post Navigation

8 thoughts on “अमीरों की रखैल हिन्दी

  1. प्रभुजी हमने तिन बार पधा ये आपका पोस्ट ,अत्तिउत्त्म!! मगर हमे इस शीषर्क पे आपत्ती है। सोचा अपने वीचार वय्क्त करु पर चौथी बार मे वीचार वय्क्त कर पाया।
    आशा है आप इसे अन्यथा नही लेगें।

    • आप अपने स्वतः स्फुटित स्वाभाव अनुरूप पुलिस को शिकायत दर्ज़ कर दें, किन्तु परन्तु इस शीर्षक में कोई परिवर्तन कदाचित संभव न होगा।

  2. हिन्दी के धाकड़ (पढ़ें महंत) लोग अपने बच्चे किस माध्यम के स्कूल में पढ़ने भेजते हैं? उनके और उनके बच्चों की बोलचाल में किन शब्दों की प्रचुरता है? उसी से हिन्दी की दशा-दिशा स्पष्ट हो जायेगी!🙂

  3. Kya kahein, is baat mein poore ka poora hi “modern life” ka atyachar jhalakta haii. Waise “oh shit” waale ke comment pe toh hassee hi nikal gayee.

    • हिन्दी को संविधान लागू होने के बासठ साल बाद भी जानबूझ कर सेकण्ड क्लास भाषा बना कर रखा गया है ताकि उच्च शिक्षा और नौकरी में मुट्ठी भर लोगों का वर्चस्व कायम रहे। सरकार ३६५ दिन में केवल २ हफ्ते यानी एक पखवाड़ा, सितम्बर में हिन्दी को समर्पित करती है बाकी दिन तो अंग्रेजी के लिए है।

      • hadd hi kar di.. videsh aa ke apni asli aukaat ka pata chalta haii. Gora ho yaan kaala – keemat apne asoolun ki kuch aur hi haii. Hindi bas ab ek mazaak hi ban ke reh gayee hai. Das yaan bees saal mein yeh bhi nahin bachegi. Jaisi duniya ujaad di haii APPLE ke Iphone ne ussee tarah angrezi nei bhi hindi ki maar ke rakh di haii. Bache poocho dudh kahan se aata haii toh jawab dega, “Mother Diary” se … usko kya para ki gaay aur bhains bhi koi cheez haiin. Sahee mein Sushil maan gaye – ab jaatee huyee jaan kaun bachaaye.. angrezi ka keeda toh bas jade kha hi gaya haii. Maafi chahtaa hun ki hindi ka font nahin haii ! warna hindi mein hi jawab bhi deta😦

  4. 🙂 Hindi ke font ki jarurat nahi padti, aap g-mail ke ‘compose mail’ mein hi aram se Hindi ya Sanskrit aur anya bhasha mein bhi compose kar sakte hain, it’s very simple

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

THE LEON KWASI CHRONICLES

⭐EDUCATE⭐MOTIVATE ⭐END THE HATE⭐LIBERATE ⭐FOR A BETTER FATE⭐

aurakarma

Stories from the Streets

wrongwithlife

The immeasurable terrors of her mind...

50 Shades of me

DARK BLUE

INNER THOUGHTS

INNER THOUGHTS

Journey of MsT

"His breath took me in..."

DoubleU = W

WITHIN ARE PIECES OF ME

Indie Hero

Brian Marggraf, Author of Dream Brother: A Novel, Independent publishing advocate, New York City dweller

Juliacastorp's Blog

Studii de dans macabru

Chris Wormald - A Photographer's travel blog.

All images and text copyright Chris Wormald 2010

Chasing Pavements Around the World

"respond to every call that excites your spirit"

TIME

Current & Breaking News | National & World Updates

The CEMS Blog

The official blog of Chennai Event Management Services

Ithihas

Kaleidoscope of Indian civilization

The Indian Express

Latest News, Breaking News Live, Current Headlines, India News Online

%d bloggers like this: